नई किस्म की गेहूं एचडी 3226 लॉन्च

हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, राजस्थान (कोटा और उदयपुर संभागों को छोड़कर), पश्चिमी उत्तर प्रदेश (झांसी डिवीजन को छोड़कर), जम्मू और कठुआ जिले, जम्मू और कश्मीर के ऊना के उत्तर पश्चिमी मैदानी क्षेत्र में व्यावसायिक खेती के लिए नई गेहूं की नई किस्म एचडी 3226 जारी की गई है।

किसान इस बार रबी सीजन में देश में विकसित नई प्रोटीन युक्त गेहूं किस्म एचडी 3226 (पूसा यशस्वी) की बुवाई कर सकेंगे। किसान इसका बीज पूसा संस्थान से प्राप्त कर सकते हैं। प्रति हेक्टेयर नई गेहूं किस्म की औसत उपज 57.5 क्विंटल है और यह पीला रतुआ, सफेद रतुआ के साथ करनाल बंट रोग के लिए प्रतिरोधी है।

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के आनुवांशिक विभाग के प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. राजबीर यादव ने कहा कि, किसानों को अक्टूबर से पूसा कैंपस से नई किस्म के गेहूं एचडी 3226 बीज मिलेंगे, हालांकि वर्तमान रबी में सीमित मात्रा में बीज उपलब्ध हैं। उन्होंने यह भी कहा कि इसके बीजों को तैयार करने के लिए, हाल ही में 35 से 40 निजी बीज कंपनियों के साथ समझौता ज्ञापन किया गया है और इसलिए किसानों को अगले साल से बहुत अधिक मात्रा में बीज मिलेंगे।

इस गेहूं में प्रोटीन की मात्रा सर्वाधिक 12.8 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि इसमें प्रोटीन की मात्रा अन्य किस्मों की तुलना में 0.50 प्रतिशत अधिक है। इसमें 12.8 प्रतिशत प्रोटीन होता है जबकि गेहूं की अन्य किस्मों में अधिकतम 12.3 प्रतिशत प्रोटीन होता है इस नई किस्म एचडी 3226 की औसत उपज 57.5 क्विंटल प्रति हेक्टेयर है, जबकि आनुवांशिक उपज क्षमता 79.60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर है। इस गेहूं की फसल 142 दिनों में तैयार हो जाएगी।

More on this section