हो सकती है रबी में एमएसपी वृद्धि


कृषि मंत्रालय ने रबी के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में 5-7 प्रतिशत बढ़ोत्तरी करने का प्रस्ताव दिया है। पंजाब और हरियाणा राज्य मिलकर केंद्रीय पूल में लगभग 70 प्रतिशत गेहूं का योगदान करते हैं, जिसका उपयोग सार्वजनिक वितरण और अन्य कल्याणकारी योजनाओं को चलाने के लिए किया जाता है।
मंत्रालय ने पिछले साल के 1,840 रुपये से गेहूं खरीद मूल्य 4.6 प्रतिशत बढ़ाकर 1,925 रुपये प्रति क्विंटल करने का प्रस्ताव किया है। इससे सरकार के 1.84 लाख करोड़ रुपये के खाद्य सब्सिडी बिल पर लगभग 3,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ने की संभावना है। नवंबर से सर्दी की बुआई शुरू होते ही कैबिनेट में जल्द ही कोई फैसला होने की संभावना है।
मंत्रालय ने सरसों के एमएसपी में 5.3 प्रतिशत की वृद्धि का प्रस्ताव किया है, जो 4,200 रुपये प्रति क्विंटल से 4,425 रुपये और जौ के एमएसपी में 5.9 प्रतिशत वृद्धि का प्रस्ताव देगा। मसूर के एमएसपी में भी 7.26 प्रतिशत, यानी 4,800 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि का प्रस्ताव किया है।
कृषि लागत और मूल्य आयोग, जो प्रमुख फसलों के लिए एमएसपी की सिफारिश करता है और उत्पादन की समग्र लागत को ध्यान में रखता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों को इनपुट लागत के 150 प्रतिशत पर एमएसपी का आश्वासन दिया है।
सरकार पिछले कुछ वर्षों से खाद्यान्नों खासकर दलहन और तिलहन की खेती को बढ़ावा दे रही है। प्रत्येक क्रमिक वर्ष के साथ खाद्यान्नों का रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है, जिससे सरकारी अन्न भंडार भरा है।

More on this section