1 जून से मानसून भारत में देगा दस्तक

मानसूनी बारिश 1 जून के आसपास दक्षिणी तट के माध्यम से भारत में प्रवेश करने की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने एक बयान में कहा कि मानसून की शुरुआत के लिए मौसम की स्थिति 1 जून, 2020 से अनुकूल होने की संभावना है।

आईएमडी ने पहले सामान्य से चार दिन बाद 5 जून को केरल में मानसून की बारिश का पूर्वानुमान लगाया था।

भारत की लगभग आधी खेती मानसून पर ही निर्भर है। ज्य़ादातर किसान चावल, मक्का, गन्ना, कपास और सोयाबीन जैसी फसल उगाने के लिए जून-सितंबर तक होनो वाली बारिश पर ही निर्भर रहते हैं। इस वर्ष मानसून कैसा रहेगा पूछे जाने पर आईएमडी के एक अधिकारी ने कहा कि इस वर्ष मानसून सामान्य रहेगा। यानी बारिश समय-समय पर होती रहेगी।

आईएमडी ने कहा कि पिछले महीने भारत में इस साल औसत मानसून बारिश होने की संभावना है, जिससे उच्च कृषि उत्पादन की उम्मीदें बढ़ सकती हैं। भारतीय अर्थव्यवस्था, एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है जो कोरोनावायरस महामारी पर अंकुश लगाने के लिए लॉकडाउन के उपायों से उबर रही है।

More on this section