किसान 2019 : मेलें के तीसरे दिन जुटे लाखों किसान

किसानों को आधुनिक कृषि तकनीक से अवगत कराने के लिए हर साल पुणे में आयोजित होने वाले देश की सबसे बड़ी कृषि प्रदर्शनी ‘किसान’ का आयोजन 11 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक किया जा रहा है. इस मेलें में प्रत्येक वर्ष 500 से अधिक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कृषि कंपनिया भाग लेती हैं और किसानों को अपने उत्पादों और नयी कृषि तकनीकों से अवगत कराती हैं. देश के लगभग सभी राज्यों से लाखों किसान इस कृषि प्रदर्शनी में जानकारी लेने आते हैं. वर्ष दर वर्ष यह मेला किसानों के मध्य लोकप्रिय होता जा रहा है.

प्रदर्शनी के तीसरे दिन लगभग एक लाख से अधिक किसानों का आगमन हुआ. किसानों की सबसे अधिक भीड़ कृषि इनपुट और उद्यानिकी पवेलियन में देखने को मिली. महाफीड स्पेशलिटी फ़र्टिलाइज़र प्राइवेट लिमिटेड, जियोलाईफ, महिंद्रा एंड महिंद्रा, सोनालिका, कुशल ट्रेक्टर, जीआरआई टायर, टायो इंडिया, स्टेनली, हस्क्वर्ना, स्टील, जैसी कंपनियों ने आधुनिक तकनीकों वाले कृषि उत्पादों के विषय में किसानों को जानकारी दी. इस कृषि प्रदर्शनी में 2 लाख से अधिक किसानों के आने की उम्मीद है. इस कृषि प्रदर्शनी में महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश और राजस्थान से सबसे अधिक किसान पहुँचते हैं. प्रदर्शनी के चौथे और पांचवे दिन भारी संख्या में किसानों के पहुँचने की उम्मीद है. किसानों के बीच लोकप्रिय मासिक कृषि पत्रिका फसल क्रांति हाल नंबर 7, स्टाल संख्या 769 में निःशुल्क पत्रिका वितरित कर रही है और मेले की सभी खबरों को न्यूज पोर्टल, फेसबुक, यूट्यूब के माध्यम से किसानों तक पहुंचा रही है. अधिक जानकारी के लिए आप फसल क्रांति की वेबसाइट http://fasalkranti.com पर क्लिक करे.   

More on this section