संकट मे किसान, गेहूं फसल कटाई में हो सकती है परेशानी

किसानों के सामने हर समय एक न एक समस्या तैयार खड़ी रहती है। पिछले दिनों  ओलावृष्टि और अतिवृष्टि ने किसानों की  फसलें चौपट की। अब कोरोना वायरस के कहर के चलते फसल कटाई और उसे मंडी तक पहुंचाने का संकट किसान के माथे खड़ा है। कोरोना वायरस के खतरे के बीच किसानों की फसल कटाई की मजबूरी भी है। फसल खेत में तैयार खड़ी है। ऐसे में कृषि विभाग ने अब फसल कटाई के संबंध में कुछ जरूरी  दिशा निर्देश जारी किए हैं। किसानों से कहा गया है कि जहां तक संभव हो सके स्वचालित मशीनों के जरिए ही फसल कटाई करे। इसके अलावा हाथों से फसल कटाई के उपकरण काम में भी लिए जाते हैं तो दिन में कम से कम 3 बार साबुन के पानी से उन्हें कीटाणु रहित करें।

ज्ञात रहे गेहूं की कटाई के लिए ज़्यादातर मशीन पंजाब से आती हैं। लेकिन लॉकडाउन की वजह से ज़्यादातर राज्यों की सीमाए बंद की हुई है जिसकी वजह से गेहूं काटने की मशिने पंजाब से नहीं आ सकती हैं। सरकार ने सख्त निर्देश दिए है  कि खेतों में कटाई करते समय किसान दूसरी का खास ध्यान रखे। इसके लिए किसानों को चाहिए कि दूसरे व्यक्ति से कम से कम 3 मीटर कि दूरी बना कर रखें। किसानों के सामने सबसे बड़ी समस्या फसल कि कटाई और उसको मंडी तक पहुंचाना है। कई राज्यों में गेहूं कि फसल तैयार खड़ी है। इसके लिए सरकार कोई न कोई निदान अवश्य निकालेगी।

More on this section

Latest News