बीवीएफसीएल पर मंडरा रहा है खतरा

असम ब्रह्मपुत्र वैली उर्वरक निगम लिमिटेड (बीवीएफसीएल) पर खतरा मंडरा रहा है। दरअसल कुछ दिन पूर्व अमोनिया-यूरिया इकाई में हुए विस्फोट के कारण यह अनिश्चितकाल के लिए बंद हो गया है। अधिकारियों को डर है कि कारखाना लंबे समय तक चल नहीं रह सकता है। बीवीएफसीएल के एक अधिकारी ने कहा कि हम अभी तक चालू वित्त वर्ष के लिए 2 लाख मीट्रिक टन भी उत्पादन नहीं कर पाए हैं जबकि पिछले साल यह उत्पादन लगभग 2.70 लाख मिट्रिक टन था, लेकिन इस साल यह लक्ष्य से कम हो जाएगा जोकि यह चिंताजनक स्थिति है।  

उन्होंने कहा कि हम अभी भी यूनिट- II में हुए विस्फोट के कारण हुए नुकसान का आकलन कर रहे हैं, और यह एक लंबा शटडाउन हो सकता है। उन्होंने कहा कि क्षतिग्रस्त मशीनरी और उपकरण आसानी से उपलब्ध नहीं हैं इसलिए इसे ठीक करने में लंबा समय लग सकता है।

मुख्यमंत्री सोनोवाल ने पिछले साल 26 सितंबर को नामरूप स्थित इस इकाई का दौरा किया था और असम पेट्रो केमिकल लिमिटेड के प्रतिनिधियों के साथ बीवीएफसीएल के अधिकारियों के साथ बैठक की थी।

More on this section