Fasal Krati

हमारा ट्रैक्टर ग्राहकों की सभी उम्मीदों पर खराः ए.के तोमर

Last Updated: May 17, 2019 (09:45 IST)

एक्शन कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट लिमिटेड, जिसे संक्षिप्त में ऐस के नाम से जाना जाता है, भारत की प्रमुख ट्रैक्टर और कृषि उपकरण निर्माण कंपनी है। इसकी स्थापना वर्ष 1995 में की गई थी, आज ऐस के पास फरीदाबाद (हरियाणा) की औद्योगिक टाउनशिप पर आधारित अत्याधुनिक उत्पादन सुविधाओं से युक्त प्लांट हैं, जहां सालाना लगभग 12000 कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट और 9000 ट्रैक्टर्स का उत्पादन होता है।
कंपनी ट्रैक्टर्स के अलावा मोबाइल क्रेन्स और टॉवर क्रेन सेगमेंट निर्माण में भी काम करती है जिसमें कंपनी की अधिकांश व्यापारिक हिस्सेदारी है। ऐस, मोबाइल क्रेन के अलावा, मोबाइल / फिक्स्ड टॉवर क्रेन, क्रॉलर क्रेन, ट्रक माउंटेड क्रेन, लॉरी लोडर, बेकहो लोडर / लोडर, वाइब्रेटरी रोलर्स, फोर्कलिफ्ट, ट्रैक्टर और हार्वेस्टर और अन्य उपकरण भी प्रदान करता है। पूरे देश में ऐस की सभी प्रमुख निर्माण, भारी इंजीनियरिंग और औद्योगिक परियोजनाओं में एक समेकित उपस्थिति है।
कंपनी के बारे में विस्तार से जानने के लिए हमने ऐस कंपनी के बिजनेस हेड (ट्रैक्टर्स ऐंड एग्री इक्विपमेंट डिवीजन) ए.के. तोमर से बातचीत की। बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि कंपनी की शुरूआत वर्ष 1995 में की गई थी। शुरूआत से ही कंपनी उच्च गुणवत्ता वाले ट्रैक्टर्स को बना रही है। हमारे ट्रैक्टर्स से ग्राहक काफी संतुष्ट हैं।

कंपनी कितने देशों में व्यापार कर रही है, पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हमारे ट्रैक्टर्स 10 देशों में जा रहे हैं। इस वर्ष हम 4-5 अन्य देशों में भी व्यापार बढ़ा रहे हैं। वहां के ग्राहक भी हमारे ट्रैक्टर्स को खूब पसंद कर रहे हैं। हमारे पास छोटे किसानों को ध्यान में रखते हुए 26 एचपी तक के ट्रैक्टर उपलब्ध हैं। हैवी ट्यूटी के लिए हमारे पास 90 एचपी के भी ट्रैक्टर है। किसानों की सभी जरूरतों के हिसाब से हमारे पास 26 एचपी से लेकर 90 एचपी तक के ट्रैक्टरों के मॉडल उपलब्ध हैं। हमारे ट्रैक्टर्स व अन्य उपकरणों का प्रयोग कर ग्राहक लाभ कमा रहे हैं।

अन्य कंपनियों से आपका ट्रैक्टर किस तरह बेहतर है पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि ग्राहक सबसे पहले इंजन की क्षमता को देखता है। हमारे ट्रैक्टर के इंजन मजबूती के मामले में सबसे बढ़िया हैं। ऐस के इंजन की क्षमता बहुत अच्छी होती है। इसके बाद टोर्क की बात की जाती है क्योंकि ट्रैक्टर सिर्फ समतल स्थानों पर नहीं चलता है बल्कि उबड़खाबड़ व चढ़ाई वाले स्थानों पर भी चलता है। ऐसे स्थानों के लिए टोर्क महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हमारे ट्रैक्टर्स में एचपी के हिसाब से टोर्क होता है ताकि वह विषम परिस्थिति में भी एक समान काम कर सके। यही वजह है कि ग्राहकों को हमारे ट्रैक्टर्स खूब पसंद आते हैं। तीसरा जो सबसे महत्वपूर्ण बात होती है वह इंजन की रेटेड आरपीएम होता है, जिसपर ज्यादा से ज्यादा एचपी मिलता है, वह ऐस ट्रैक्टर में  सबसे कम है। उससे यह होता है कि पिस्टन कम बार ऊपर नीचे जाता है। अगर दूसरे ट्रैक्टर में 2200 बार ऊपर नीचे होता है तो हमारे ट्रैक्टर में 1800 बार होता है। इससे फायदा यह होता है कि इंजन की लाइफ बढ़ जाती है। दूसरे ब्रांड से तुलना किया जाये तो हमारे इंजन की लाइफ डेढ़ गुना ज्यादा होती है।

हम सबसे पहले ग्राहको को डेमो दिखाते हैं और दो तरह से उन्हें संतुष्ट करते हैं। पहला हमारे इंजन आधुनिक तकनीक पर आधारित हैं जो डीजल की कम खपत करते हैं। दूसरा काम किये जाने की क्षमता, यानी जुताई की दर। कितने डीजल में कितने एकड़ की जुताई हुई। इस मामले में हमारा ट्रैक्टर सबसे बढ़िया है। रोटावेटर का प्रचलन बढ़ रहा है। कई ब्रांड के ट्रैक्टर रोटावेटर को अच्छी तरह से नहीं चला पाते हैं। जबकि हमारे ट्रैक्टर रोटावेटर के लिए सबसे उपयुक्त पाये गये हैं।

बागवानी फसलों के लिए कुछ कंपनियां विशेष मॉडल के ट्रैक्टर को बाजार में उतार रही हैं इस क्षेत्र में आपकी क्या तैयारी है, पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि 26 एचपी का हमारा ट्रैक्टर बागवानी के दृष्टिकोण से ही डिजाइन किया गया है। लेकिन बागवानी में 15 से 18 एचपी के ट्रैक्टर चलन में ज्यादा हैं इसलिए आने वाले समय में हम 15 से 18 एचपी के ट्रैक्टरों को बाजार में उतारेंगे।

उन्होंने कहा कि हम अपने ग्राहकों को डेढ़ 2 साल या 2,000 घंटे का वारंटी समय देते हैं। जिसके तहत हम उस समय सीमा के अंदर ग्राहकों को सभी तरह की सुविधाओं को देते हैं। मैं आपके पाठकों से यह कहना चाहता हूं कि अगर आप ट्रैक्टर लेना चाहते हैं तो सबसे पहले ऐस के ट्रैक्टर का डेमो अपने खेत में कराएं। मैं वादा करता हूं कि सभी पहलुओं पर हमारा ट्रैक्टर बेहतर साबित होगा। हमारा ट्रैक्टर आपकी सभी उम्मीदों पर खरा उतरेगा।

 


MORE INTERVIEWS


Padma Shri Kanwal Singh Chauhan shows new path to farmers

किसानों को नई राह दिखाते हैं पद्मश्री कँवल सिंह चौहान

कँवल सिंह चौहान हरियाणा सोनीपत जिले के उटेरना गांव के एक ऐसे प्रगतिशील किसान हैं जो बेबीकॉर्न की खेती कर लाखों रूपया कमाते हैं साथ ही किसानों को नई राह दिखाते हैं। हरियाणा में उनकी काफी लोकप्रियता है। खेती में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए उन्हें पद्मश्…

Camco Launches Two New Products Launch: Sasikkumar

केमको ने दो नये उत्पादों को किया लॉन्चः ससिकुमार

केरला एग्रो मशीनरी कॉर्पोरेशन लिमिटेड (केमको) की स्थापना वर्ष 1973 में विशेष रूप से पॉवर टिलर, डीजल इंजन और कृषि मशीनरी के निर्माण के लिए किया गया था। तब यह केरल एग्रो इंडस्ट्रीज कॉर्पोरेशन लिमिटेड, त्रिवेंद्रम की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी थी …

Horizontal Ad large