Fasal Krati

बायोगोल्ड का आहार, दूध बढ़ाए अपार

Last Updated: March 28, 2019 (00:38 IST)

बायोगोल्ड इंडस्ट्रीज एलएलपी पशु चारे की प्रसिद्ध कंपनी है जो विभिन्न प्रकार के एग्रो और अन्य उत्पादों का निर्माण, आपूर्ति और निर्यात करती है। कंपनी पशु आहार कृषि और जैविक उर्वरक, नीम उत्पाद, पोल्ट्री फीड अनुपूरक, सोया वसा अम्ल, बिस्कुट, बासमती चावल, पवन टरबाइन, पवन ऊर्जा मिल्स पेपर और पेपर बोर्ड इत्यादि क्षेत्रों में कार्य कर रही है। कंपनी के पशु आहार का कोई जोड़ नहीं है। देश भर किसान बायोगोल्ड के पशु आहार से न केवल पशुओं का स्वास्थ्य ठीक कर रहे हैं बल्कि दूध उत्पादन कर अपनी आय भी बढ़ा रहे हैं।

फसल क्रांति की टीम ने कंपनी के प्रबंध निदेशक प्रदीप भाटिया से कंपनी के बारे में विस्तार से बातचीत की। बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि हमारे पशु आहार से पशुओं का स्वास्थ्य अच्छा होता है और दूध की गुणवत्ता में भी सुधार होता है। यदि एक तरह से देखा जाए तो यह उत्पाद किसानों के लिए मुफ्त हो जाता है। इस उत्पाद का परिणाम इतना अच्छी मिलता है कि किसानों को इसका दाम पूरा का पूरा वसूल हो जाता है। अगर कोई किसान 1 लाख की लागत लगाता है तो उसे इस उत्पाद द्वारा 2 लाख का मुनाफा होता है।

उन्होंने कहा कि हर किसान चाहता है कि वह अधिक आय अर्जित करें। अधिक आय के लिए पशुपालन करना आवश्यक होता है। हमारे उत्पाद के प्रयोग से धीरे-धीरे दूध की मात्रा बढ़ने लगती है जो दोगुने या तीगुने स्तर तक जाती है। दूध उत्पादन से ही किसानों की आय में बढोत्तरी होती है। बायोक्षीरा किस तरह पशुओं के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है है पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह पशुओं के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही उत्तम उत्पाद है। इसके प्रयोग से पशुओं का दुबलापन समाप्त हो जाता है। हड्डियों का ढ़ाचा हो चुके पशु भी स्वस्थ व तंदरूस्त हो जाते हैं। पशुओं के बाल चमकिले और लंबे होते हैं। उनकी पाचनशक्ति बढ़ता है।

बायोक्षीरा का दूध पर प्रभाव पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि बायोक्षीरा दूध की मात्रा बढ़ाता ही है साथ ही साथ दूध की गुणवत्ता भी सुधारता है। बायोक्षीरा दूध में फैट की मात्रा को बढ़ाता है जिसके कारण दूध की कीमत भी ज्यादा मिलता है।

प्रधानमंत्री जी 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की योजना बनाए हैं। मैं यह कहना चाहता हूं कि दूध उद्योग से जुड़ा किसान बायोक्षीरा के प्रयोग से महिने दो महिने में ही अपनी आय को दोगुनी कर सकता है। इसी खासियत की वजह से इसकी मांग लगातार बढ़ रही है। एक बार जो किसान इसका प्रयोग करता है, वह बार-बार इसकी मांग करता है। भारत के अलावा अन्य देशों में भी बायोक्षीरा की धूम है। वहां के किसान भी इसको खूब पसंद कर रहे हैं।  

उन्होंने कहा कि हमारा मिशन टिकाऊ कृषि के लिए आदानों के उच्चतम ग्रेड के साथ कृषक समुदाय की सेवा करना है। गहन अनुसंधान और विकास के माध्यम से लगातार नए फसल देखभाल उत्पादों का नवाचार भी कर रहे हैं। हम बेहतर प्रदर्शन के लिए अनुसंधान, प्रशिक्षण, सलाह, कर्मियों को सशक्त बनाने और स्वस्थ कार्य संस्कृति विकसित करने के माध्यम से मानव पूंजी विकास पर जोर दे रहे है।  

हम कुछ अग्रणी विक्रेताओं से उच्च-श्रेणी की सामग्री का स्रोत बनाते हैं और इसे बेजोड़ उत्पादों के निर्माण के लिए अत्याधुनिक तकनीक के साथ जोड़ते हैं। समय पर डिलीवरी कुछ ऐसी चीज है, जिसमें हम देरी करते हैं और देरी से बचने के लिए अपने स्तर पर पूरी कोशिश करते हैं और अपने ग्राहकों का पूरा खयाल रखते हैं। हमारे ग्राहक हमारी सेवाओं और उत्पाद से काफी खुश है।  


MORE INTERVIEWS


Padma Shri Kanwal Singh Chauhan shows new path to farmers

किसानों को नई राह दिखाते हैं पद्मश्री कँवल सिंह चौहान

कँवल सिंह चौहान हरियाणा सोनीपत जिले के उटेरना गांव के एक ऐसे प्रगतिशील किसान हैं जो बेबीकॉर्न की खेती कर लाखों रूपया कमाते हैं साथ ही किसानों को नई राह दिखाते हैं। हरियाणा में उनकी काफी लोकप्रियता है। खेती में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए उन्हें पद्मश्…

Camco Launches Two New Products Launch: Sasikkumar

केमको ने दो नये उत्पादों को किया लॉन्चः ससिकुमार

केरला एग्रो मशीनरी कॉर्पोरेशन लिमिटेड (केमको) की स्थापना वर्ष 1973 में विशेष रूप से पॉवर टिलर, डीजल इंजन और कृषि मशीनरी के निर्माण के लिए किया गया था। तब यह केरल एग्रो इंडस्ट्रीज कॉर्पोरेशन लिमिटेड, त्रिवेंद्रम की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी थी …

Horizontal Ad large