Fasal Krati

पंजाब में पिछले 2 साल में हुआ 5 हजार करोड़ का निवेश: विन्नी महाजन

Last Updated: August 07, 2019 (03:39 IST)

विनिर्माण क्षेत्र में उत्कृष्टता विषय पर सीआईआई द्वारा सीआईआई सम्मेलन के तीसरे संस्करण का आयोजन किया गया। पंजाब सरकार की उद्योग,वाणिज्य एवं निवेश संवर्धन विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव विन्नी महाजन ने कहा कि पंजाब में पिछले दो वर्ष के दौरान 5 हजार करोड़ से अधिक का निवेश हुआ है। इसके साथ ही सरकार पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप को बढ़ावा देने के लिए राज्य में नई इंडस्ट्रियल पार्क नीति लाने की तैयारी कर रही है।

उन्होंने सीआईआई को आमत्रित करते हुए कहा कि सरकार चाहती है कि उनके विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने में सीआईआई भूमिका निभाए औरय ह सुनिश्चित करेगा कि सरकार द्वारा दिए गए स्ट्रक्चर्ड पॉलिसी फ्रेमवर्क का सर्वोत्तम उपयोग उद्योग करें। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार औद्योगिक विकास के लिए एक सक्षम पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करने की दिशा में बढ़ रही है। कौशल विकास, रोजगार की व्यवस्था, स्टार्ट-अप का समर्थनकरने और बुनियादी ढांचे की गुणवत्ता सरकार की प्राथमिकताओं के केंद्र में हैं।

पंजाब ब्यूरो ऑफ इनवेस्टमेंट एंड प्रमोशन के सीईओ रजत अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि नई और परिवर्तित होती टेक्रोलॉजी को अपनाना,मानव संसाधनों को और कुशल बनाना और वित्त व्यवस्था तीन ऐसे अहम क्षेत्र हैं जो उद्योगों के विकास को सीधे तौर पर प्रभावित करते हैं। उन्होंने प्रतिभागियों को यह भी बताया कि पंजाब सरकार अपनी उद्योग प्रोत्साहन संरचना की इकाइयों के उन्नयन, विविधीकरण, विस्तार और आधुनिकीकरण करने की दिशा में बढ़ रही है। उन्होंने बताया कि एमएसएमई को सहायता प्रदान करना, उद्योग की प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देना,गुणवत्ता का अनुपालन सुनिश्चित करना, बीमार इकाइयों का पुनरुद्धार और आर एंड डी गतिविधियों का संचालन करना राज्य के नीति निर्माताओं के प्रमुख फोकस क्षेत्र हैं।

वोल्वो ग्रुप इंडिया के अध्यक्ष तथा प्रबंध निदेशक कमल बाली ने कहा कि किसी भी उभरती हुई अर्थव्यवस्था की रीढ़ माने जाने वाले विनिर्माण उद्योग का भारत की जीडीपी में केवल 15 प्रतिशत योगदान है, जो कि वाले वर्षों में बढ़कर 25 प्रतिशत होना चाहिए। विनिर्माण क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करना एक नियमित प्रक्रिया है जो स्वयं चलती है और देश को समग्र स्थिरता और प्रगति प्रदान करती है। आज सहयोग और साझेदारी का युग है और सरकार का समर्थन इस क्रम में बहुत जरूरी है। वास्तविक और अभिनव प्रोत्साहन, आसान वित्तपोषण तथा विनिर्माण क्षेत्र में व्यापार करने को आसान बनाना कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जिनमें सरकार का समर्थन बहुत जरूरी है। साथ ही उद्योगों को अब संपत्ति आधारित बिजनेस मॉडल को आइडिया आधारित बिजनेस मॉडल में बदलने की जरूरत है क्योंकि ग्राहक को आज उत्पाद नहीं बल्कि समाधान और परिणाम चाहिए। हमें अगले 5 से 7 वर्षों में निरर्थक बनने वाले कौशल का 48 प्रतिशत कौशल अभी विकसित करने की जरूरत है।

मारूति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के एग्जीक्यूटिव एडवाईजर एमएम सिंह ने कहा कि कंपनियां अपने काम करने की प्रक्रिया तथा ऑपरेशन प्रोसीजरकी समीक्षा करके ही 20 से 30 प्रतिशत उत्पादन बढ़ाना और लागत में कमी लाना यह दोनो काम कर सकती हैं। उन्होने कहा कि उत्पाद कीगुणवत्ता और कर्मियों की सुरक्षा किसी भी प्रोडक्शन यूनिट के दो अहम पैमाने हैं। उन्होंने सुझाव दिया कि कंपनियों को कर्मियों की सुरक्षा औरउनके काम करने के माहौल पर निरंतर निगरानी रखी जानी चाहिए। उन्होनें कहा कि हमें वैश्विक पैमानों को अपनाने के स्थान पर केंद्रित न कर अपनेखुद के पैमाने स्थापित करने की दिशा में भी काम करना चाहिए।

महिंद्र एंड महिंद्र स्वराज डिवीजन के सीईओ तथा सीआईआई पंजाब स्टेट काउंसिल के अध्यक्ष हरीष चवन ने कहा कि हमें लचीले व्यावसायिकमॉडल बनाने और अपनाने की आवश्यकता है। साथ ही उत्पादन इकाइयों को स्वचालित करने के बारे में बेहद सावधान रहने की जरूरत है।विनिर्माण उद्योग काफी चुनौतियों का सामना कर रहा है और अधिकांश विनिर्माण संस्थाएं पूरी तरह से जागरूक नहीं हैं कि कैसे वे अपनी आंतरिकप्रतिस्पर्धा को बढ़ा सकती हैं।

एमवीएमएल के सीईओ तथा महिंद्र एंड महिंद्रा लिमिटेड ऑटो सेक्टर के चीफ ऑफ मैनुफैक्चुरिंग ऑपरेशंस विजय कलार ने कहा कि कौशलकिसी प्रौद्योगिकी और नवाचार का उपयोग कर लाभ पाने में बड़ा अंतर ला सकता है। इस प्रतिस्पर्धी युग में दक्षता बेहद आवश्यक है क्योंकिविकास के रुझानों का पूर्वानुमान करना लगभग असंभव है। उन्होंने सम्मेलन में उपस्थित लोगों को सतर्क रहने की सलाह देते हुए कहा कि केवल उन तकनीकी परिवर्तनों को अपनाएं जो उनके व्यापार के लिए प्रासंगिक हैं।


MORE ON THIS SECTION


IFFCO named No.1 company by magazine Fortune India 500

पत्रिका फॉर्च्यून इंडिया 500 ने इफको को नं-1 कंपनी सिद्ध किया

प्रसिद्ध पत्रिका फॉर्च्यून इंडिया 500 ने एक बार फिर इफको को देश में उर्वरक और कृषि रसायन उद्योग में शीर्ष कंपनी के रूप में स्थान दिया है। इसके अलावा, पूरे विश्व के 500 कंपनियों के बीच इफको 68 वें स्था…

100% result of trainees of Krishi Vigyan Kendra in skill development examination

कौशल विकास की परीक्षा में कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रशिक्षार्थियों का परिणाम शत् प्रतिशत

कृषि विज्ञान केन्द्र, रीवा द्वारा भारत सरकार की कौशल विकास योजनार्न्तगत आयोजित कौशल विकास प्रशिक्षण केचुआ खाद उत्पादन एवं संरक्षित कृषि (उद्यानिकी) में सम्मिलित प्रशिक्षणार्थियों को केन्द्र सरकार के क…

Engineer left for 10 million package jobs on unmatched mission

10 लाख पैकेज की नौकरी छोड़ बेमिसाल मिशन पर निकला इंजीनियर

इंजीनियर मांजूनाथ का जज्‍बा इंसानियत के प्रति नया नजरिया देती है। दोस्‍त की मां को न बचा पाने की पीडा़ मिली तो 10 लाख पैकेज की नौकरी छोड़ अंगदान का अलख जगाने साइकिल पर निकल पड़े। डबवाली, [डीडी गोयल]। …

The bone will be attached to the egg peel

अंडे के छिलके से जुड़ेगी हड्डी

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आइआइटी) हैदराबाद और डॉ. बीआर आंबेडकर नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एनआइटी) जालंधर के शोधकर्ताओं ने अंडे के छिलके से हड्डी का इंप्लांट बनाने की प्रक्रिया विकसित की …

Horizontal Ad large