Fasal Krati

सामुदायिक रेडियो अल्फाज़-ए-मेवात को मिला राष्ट्रीय पुरस्कार

Last Updated: September 04, 2019 (11:18 IST)
दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सुश्री पूजा ओ मुरादा को पुरस्कार देते सूचना एवं प्रसारण मंत्री

दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सुश्री पूजा ओ मुरादा को पुरस्कार देते सूचना एवं प्रसारण मंत्री

सहगल फाउंडेशन द्वारा संचालित सामुदायिक रेडियो स्टेशन अल्फाज़-ए-मेवात एफ एम 107.8 को हरियाणा के जिला नूंह एवं उसके आसपास के क्षेत्रों में कानूनी जागरूकता के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुआ है।  केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पिछले सप्ताह नई दिल्ली स्थित डॉ. बी. आर. अम्बेडकर इन्टरनेशनल सेंटर में आयोजित सातवें राष्ट्रीय सामुदायिक रेडियो सम्मेलन में वर्ष 2018- 2019 के लिए अल्फाज़-ए-मेवात को विषयगत् श्रेणी में कानून की बात कार्यक्रम के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया। अल्फाज़-ए-मेवात रेडियो की ओर से यह पुरस्कार सहगल फाउंडेशन की संचार निदेशक पूजा मुरादा ने प्राप्त किया।  सातवें राष्ट्रीय सामुदायिक रेडियो सम्मेलन में पूरे देश से लगभग 250  सामुदायिक रेडियो के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

 “कानून की बात कार्यक्रम” में कानूनी विषयों के बारे में जानकारी दी जाती है। इस कार्यक्रम के माध्यम से कोई भी श्रोता कार्यक्रम के दौरान रेडियो अल्फाज़- ए– मेवात के स्टूडियो नंबर 9813164542 पर फ़ोन करके जुड़ सकता है और संबंधित कानूनी विषयों पर विशेषज्ञ से राय पा सकता है। इस कार्यक्रम के प्रसारण में हरियाणा विधिक सेवा प्राधिकरण का विशेष सहयोग है।

अल्फाज़–ए–मेवात की डायरेक्टर श्रीमती पूजा मुरादा का कहना है कि इस कार्यक्रम के माध्यम से हमारा मकसद ग्रामीणों को उनके लिए बने कानूनों व अधिकारों से जागरुक करवाना है, ताकि उन्हें इनका लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि यह राष्ट्रीय पुरस्कार सामुदायिक रेडियो का ग्रामीण क्षेत्रों में बसे लोगों के साथ जुड़ाव और सकरात्मक प्रभाव का प्रतीक है। यह पुरस्कार अल्फाज़-ए–मेवात के सभी सामुदायिक रिपोर्टरों और श्रोताओं को समर्पित है। अल्फाज़-ए–मेवात समुदाय की बात, समुदाय से जुड़ी जानकारी पिछले आठ वर्षोँ से उन तक
पहुंचा रहा है और हमें इस बात की खुशी है कि हम सूचना के अभाव को सूचना के प्रभावों में बदल पा रहे हैं।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली एवं गुड़गांव की चकाचौंध से मात्र 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित नूंह जिले के गांवों में डिजिटल इंडिया के इस दौर में भी हर वर्ग के लोग रेडियो सुनकर सारी जानकारियाँ पाते हैं।  अल्फाज़- ए- मेवात न केवल समुदाय की महिलाओं से जुड़ा है बल्कि समाज के हर वर्ग बच्चों, किशोरों, किसानों, वृद्धों को विभिन्न रेडियो कार्यकमों के ज़रिये सूचना और जानकारी देकर आत्म- निर्भर बनाने में सहयोग कर रहा है ताकि वे निर्णय लेकर समाज में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकें।

अल्फाज़–ए– मेवात के बारे में : एस एम सहगल फाउंडेशन (गैर सरकारी संगठन) द्वारा 2012 में नूंह के गाँव घागस में सामुदायिक रेडियो अल्फाज़ –ए –मेवात स्थापित किया गया है। रेडियो घाघस से 20 किलोमीटर की परिधि में आनेवाले 225 गांवों के ग्रामीणों को रोज विभिन्न सूचना परक और मनोरंजन कार्यक्रमों का प्रसारण कर जानकारी प्रदान करता है।


MORE ON THIS SECTION


The romantic journey of two youngsters is 'drunk'

दो यंगस्टर्स की रोमांटिक जर्नी है ‘मदहोश’

प्यार का अहसास कब होता है? यह उन परिस्थितियों पर निर्भर करता है, जो किसी भी क्षण घटित हो सकती हैं। समंदर की लहरें भी बूंदों के रूप में प्यार का मीठा अहसास करा सकती हैं। यूनीक क्रिएशन फिल्म्स के बैनर त…

Farmer women trained

किसान महिलाएं हुई प्रशिक्षित

मौजूदा समय में महिलाएं नया इतिहास बना रही है। खासकर उद्यमिता के क्षेत्र में हम महिलाएं काफी अच्छा काम कर रही है। देश में उद्यमिता के क्षेत्र में हजारों महिलाएं ऐसी हैं जो दूसरी महिलाओं को प्रेरित कर र…

CII's 14th Surface Coating Show Focuses on Growth and Stability in Paints and Coating Technology

सीआईआई का 14वां सर्फेस कोटिंग शो पेंट्स और कोटिंग टेक्रोलॉजी में विकास और स्थिरता पर केंद्रित

सीआईआई इंडिया सर्फेस कोटिंग शो जो एक अंतराष्ट्रीय सम्मेलन व सर्फेस कोटिंग टैक्रोलॉजी का संगम है उसका 14वां संस्करण दिल्ली में आयोजित किया गया। इस अवसर पर सीआईआई उत्तरी क्षेत्र के अध्यक्ष व जैक्सन ग्रु…

Why 'National Milk Day' is celebrated

‘राष्ट्रीय दुग्ध दिवस’ क्यों मनाया जाता है

प्रतिवर्ष 26 नवंबर को संपूर्ण देश में ‘राष्ट्रीय दुग्ध दिवस’ मनाया जाता है। भारत में श्वेत क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कुरियन के जन्मदिन को ‘राष्ट्रीय दुग्ध दिवस’ मनाया जाता है। वर्ष 2014 में भारतीय डे…

Horizontal Ad large