एडवांटा की नई टमाटर किस्म से किसानों में खुशी की लहर

टमाटर उत्पादकों के लिए राहत भरी खबर है। दरअसल एडवांटा सीड्स ने एक ऐसे टमाटर किस्म को विकसित किया है जो गर्मी में भी अधिक पैदावार देने में सक्षम है और जिसकी फसल कम से कम सड़ने की संभावना है।  इस किस्म का नाम "जयम -2" है जोकि एक नई किस्म है। जयम- 2 अपने आप में एक अनोखी किस्म है, जो गर्मी के मौसम में अत्यधिक फल देने में सक्षम है और इस मौसम के प्रति बहुत ही सहिष्णु है। जयम- 2 में कम समय में अधिक उत्पादन करने की क्षमता के साथ लंबे समय तक फल सहन करने की क्षमता है।

इसके पौधों के फल बहुत ठोस, आकर्षक चमकीले लाल रंग के होते हैं और अधिकतर समान आकार के होते हैं। फलों के समान आकार के कारण, किसान "ए" ग्रेड के बहुत सारे फल उगा सकते हैं। इन बीजों से उगाए गए टमाटर की अच्छी गुणवत्ता के कारण परिवहन के दौरान जल्दी सड़ने की संभावना न होने से दूर स्थान तक आसानी से ले जाया जा सकता है।

वर्ष 2019 के दौरान, महाराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान, असम और पश्चिम बंगाल के किसानों ने जयम -2 के बीज का उपयोग करके सफलतापूर्वक फसलों की खेती की है। किसानों को अन्य किसानों और सरकार से बहुत उत्साहजनक प्रतिक्रिया मिल रही है। इन बीजों की उपज क्षमता और रोग प्रतिरोधक क्षमता के बारे में अधिकांश किसान उत्साहित हैं।

सभी मंडियों में, जयम -2 के फल प्राथमिकता के आधार पर बेचे जाते हैं और अन्य किस्मों से अच्छी आय के कारण किसान बहुत खुश हैं। किसान अगले साल से बड़े पैमाने पर जयम-2 की खेती करने की तैयारी कर रहे हैं।

बता दें कि एडंवाटा सीड्स साल 2019-2020 में हाइब्रिड सब्जी बीज कारोबार में सबसे तेजी से बढ़ने वाली कंपनी रही है। अपने मजबूत अनुसंधान और विकास और प्रबंधन के साथ, कंपनी ने भिंडी बीज के व्यवसाय में पहला स्थान प्राप्त किया है। एडवांटा सीड्स तेजी से टमाटर, मिर्च, फूलगोभी, स्वीट कॉर्न और अन्य सब्जियों के बीज विकसित करने में अपना ध्यान लगा रहा है।

More on this section