जेडीएम ने किया नये रिसर्च सेंटर का उद्घाटन

जेडीएम साइंटिफिक रिसर्च ऑर्गनाइजेशन प्राइवेट लिमिटेड ने रासायनिक अनुसंधान के लिए नये केंद्र का उद्घाटन वडोदरा, गुजरात में किया। गुजरात के माननीय मुख्यमंत्री विजय रूपानी के द्वारा इसका उद्घाटन किया गया। इस कार्यक्रम में दुनिया भर के एग्रोकेमिकल और फार्मास्युटिकल स्पेस के प्रतिष्ठित लोगों ने भाग लिया।

जेडीएम साइंटिफिक रिसर्च ऑर्गनाइजेशन प्राइवेट लिमिटेड अनुसंधान और विकास केंद्र का एक सह अनुबंध अनुसंधान संगठन है जो 10 एकड़ से अधिक क्षेत्र में फैला है और यह एशिया के सबसे बड़े अनुसंधान एवं विकास केंद्रों में से एक है। केंद्र को भारत सरकार के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए विकसित किया गया है। इसके  प्रौद्योगिकी और नवाचार विजन मेक इन इंडिया की श्रेणी में शामिल है। यह केंद्र भारत सरकार के अच्छे प्रयोगशाला अभ्यास और आईएसओ 17025 सर्टिफिकेट के साथ मान्यता प्राप्त है और इसे वैज्ञानिक विभाग और औद्योगिक अनुसंधान (डीएसआईआर) विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त है। जेडीएम फसल सुरक्षा रसायन, दवा, विशेष रसायन, खाद्य और चिकित्सा उपकरणों उद्योगों को अपनी सेवाएं प्रदान करेगा।

मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने इस अवसर पर कृषि और दवा क्षेत्र में अनुसंधान आधारित उत्पादों की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने आने वाले वर्षों में भारत के अनुसंधान एवं विकास में जेडीएम अनुसंधान के योगदान को दोहराते हुए कहा कि यह माननीय प्रधान मंत्री के 5 ट्रिलियन भारतीय अर्थव्यवस्था के सपने को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

अनुसंधान और विकास क्षेत्र में असंख्य अवसर हैं और जेडीएम अनुसंधान का पता लगाने और सहयोग करने के लिए एक बड़ा मंच है। उन्होंने कहा कि "एडवांसिंग साइंस, एन्हांसिंग लाइव्स", जेडडीएम रिसर्च की टैग लाइन जीवन को आगे बढ़ाने के लिए अनुसंधान की पूर्ण क्षमता को साकार करने के लिए काम कर रहा है।

More on this section