Fasal Krati

धानुका एग्रीटेक ने दर्ज किए 60 करोड़ का शुद्ध लाभ

Last Updated: November 11, 2019 (04:45 IST)

धानुका एग्रीटेक ने 30 सितंबर, 2019 को समाप्त दूसरी तिमाही में लगभग 60 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया है, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 55 करोड़ रुपये से 9 प्रतिशत अधिक है।
फर्म ने दूसरी तिमाही में 406.84 करोड़ रुपये की कुल आय अर्जित की, जो पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में दर्ज किए गए 385.75 करोड़ रुपये से लगभग 5 प्रतिशत अधिक थी।
इस वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन संतोषजनक रहा है और टर्नओवर में 5.18 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। एम.के. धानुका, प्रबंध निदेशक, धानुका एग्रीटेक, ने एक बयान में कहा कि इस साल, हमने धान, कपास और मिर्च की फसलों के लिए तीन प्रतिस्पर्धी उत्पाद लॉन्च किए जिसे किसानों ने काफी पसंद किया। इस वर्ष, बारिश देरी से हुई है, जिसने बिक्री और हमारी कंपनी के प्रदर्शन को प्रभावित किया। उन्होंने कहा कि हमने हमेशा से ही किसानों की जरूरतों का ध्यान रखते हुए अपने उत्पादों को विकसित किया है। हमारे सभी उत्पाद किसानों के बीच लोकप्रिय हैं।


MORE ON THIS SECTION


Mahindra launched a new tractor

महिंद्रा ने उतारा नया ट्रैक्टर

किसान मेले में आज महिंद्रा ने अपने नए ट्रैक्टर महिंद्रा 575 डीआई एसपी प्लस को लॉन्च किया. 47 हॉर्स पावर वाले इस ट्रैक्टर को देखने के लिए महिंद्रा के स्टाल पर किसानों की भीड़ टूट पड़ी. कुछ लोगों ने इस …

Knowledge of modern agricultural implements to farmers through agricultural exhibition

कृषि प्रदर्शनी के जरिए किसानों को आधुनिक कृषि यंत्रों की जानकारी

कृषि क्षेत्र में मशीनीकरण के कारण काफी बदलाव हुए हैं. मशीनीकरण के जरिए एक क्रांति का शुभारम्भ हुआ है. पहले किसान खेत जोतना, बुवाई, निराई-गुडाई और कटाई सभी काम हाथों से किया करते थे अब उनको मशीन के माध…

Priceless motor starter will increase the life of irrigation pump

अनमोल मोटर स्टार्टर से बढ़ेगा सिंचाई पम्प का जीवनकाल

ज्यादातर सिंचाई पम्प को संचालित करने के लिए या तो सीधे विद्युत् कनेक्शन जोड़ा जाता है या फिर सामान्य स्विच का इस्तेमाल किया जाता है। इससे सिंचाई के दौरान पम्प के ख़राब होने का खतरा अधिक बढ़ जाता है क्यों…

Hitweed Max will destroy weed in cotton

कपास में खरपतवार को नष्ट करेगा हिटवीड मैक्स

भारत में महाराष्ट्र, हरियाणा और पंजाब जैसे बड़े राज्यों में कपास की खेती बड़े पैमाने पर की जाती है। पिछले कुछ सालों में कपास में कभी पिंक बॉलवार्म की समस्या तो कभी खरपतवार की समस्या से किसानों को नुकसान…

Horizontal Ad large