बजट खोलेगा आर्थिक पुनरुद्धार के नये द्वार

भारतीय उद्योग परिसंघ ने भारत सरकार द्वारा घोषित नए बजट का स्वागत करते हुए कहा कि यह बजट नए और महत्वकांशी भारत का रास्ता तैयार करने वाला है। इसके साथ ही इस बजट को आय और लोगों की खर्च करने की क्षमता को बढ़ाने वाला है।

सीआईआई को इस बात की प्रसन्नता है कि सीआईआई द्वारा दिए गए कई सुझावों का 2020 -2021 के बजट में ध्यान रखा गया है। इन सुझावों में किसानों की आमदनी बढ़ाना, सभी लोगों तक पाईप के माध्यम से पीने का पानी पहुंचाना, उर्वरकों के प्रयोग में संतुलन लाना तथा सौर उर्जा के प्रयोग को बढ़ावा देना शामिल है। सीआईआई की सिफारिशों के अनुरूप डिवाईडेंड डिस्ट्रिब्यूशन टैक्स को समाप्त करने को सीआईआई ने स्वागत योग्य कदम बताया। इससे निवेशकों के लिए भारत निवेश के लिए आदर्श स्थान साबित होगा। सीआईआई ने बजट में स्टार्ट अप के लिए जो निर्णय लिए गए हैं उनके प्रति प्रसन्नता व्यक्त की। ईएसओपी पर कर्मचारियों पर लगने वाले टैक्स को पांच साल के लिए टालने से स्टार्ट अप पर वित्तिय भार को घटाने में मदद होगी और यह स्टार्टअप आरंभ करने वालों को प्रोत्साहित करेगा। सीआईआई उत्तरी क्षेत्र के चेयरमैन समीर गुप्ता ने कहा कि कृषि क्षेत्र जो हमारे देश की अर्थव्यवस्था का सबसे अहम क्षेत्र है खास तौर पर उत्तरी क्षेत्र का बजट में विशेष ध्यान रखा गया है। कृषि क्षेत्र को नुक्सान पहुंचाने वाले कारकों का हल निकालने के लिए सीआईआई ने वित्त मंत्री की सराहना करते हुए कहा कि जल्दी खराब होने वाले खाद्य के लिए राष्ट्रीय कोल्ड चेन, पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप के तहत किसान रेल स्थापित करना, सौर उर्जा के लिए किसानों को प्रेरित करने के लिए इनसेंटिव देना तथा पानी की समस्या को दूर करने के लिए की गई घोषणाएं किसानों के लिए बेहद अहम है। गुप्ता ने कहा कि कृषि तथा संबंधित कार्यों व सिंचाई के लिए बजट को बढ़ा कर 2.83 लाख करोड़ करना उत्तरी क्षेत्र के राज्यों के लिए गेम चेंजर साबित होगा। गुप्ता ने कहा कि उत्तरी क्षेत्र के लैंड लॉक होने के चलते वित्त मंत्री ने कनेक्टिविटी पर बहुत जोर दिया है ताकि लोगों और वस्तुओं को लाने ले जाने में आसानी हो। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू एंड कश्मीर व लद्दाख के विकास के लिए सरकार द्वारा बजट में जम्मू एंड कश्मीर के लिए 30757करोड़ तथा लद्दाख के लिए 5958 करोड़ के बजट का प्रावधान करने पर सीआईआई ने खुशी जताई। गुप्ता ने कहा कि सीआइ्रआई इन केंद्र शासित प्रदेशों के विकास को गति देने के लिए इनके साथ काम करेगा।

गुप्ता ने अंत में कहा कि यह बजट लंबे समय को ध्यान में रखते हुए सतत विकास के उद्देश्य से बनाया बजट है। यह समावेशी, दूर की सोच केसाथ बनाया महत्वकांशी बजट है।

More on this section