भारत इन्सेक्टिसाइड्स लिमिटेड ने किसानों के लिए लांच किया नया उत्पाद-“धाक”

भारत इन्सेक्टिसाइड्स लिमिटेड ने उत्कृष्ट कीटनाशक उत्पाद “धाक”  को राजस्थान के बारां जिले में किसानों के बीच लॉन्च किया। “धाक” अलग-अलग फसलों जैसे सोयाबीन, कपास आदि में गर्डल बीटल, एवं विभिन्न प्रकार के रस चूसक कीटों के नियंत्रण के लिए एक कारगर समाधान है। इस कार्यक्रम में कंपनी के रीजनल सेल्स मैनेजर आर. के. शर्मा, मार्केटिंग डवलपमेंट मैनेजर सुनील, एरिया बिज़नेस मैनेजर धनराज कटारिया, असिस्टेंट मार्केटिंग डवलपमेंट मैनेजर शुभम कुमार समेत अन्य कंपनी प्रतिनिधियों तथा 200 से अधिक किसानों ने भाग लिया।

कार्यक्रम के दौरान आर.के.शर्मा एवं सुनील ने भारत इन्सेक्टीसाइड्स लिमिटेड के बारे में विस्तृत जानकारी दी, साथ ही भरोसा दिलाया कि भारत इन्सेक्टीसाइड्स लिमिटेड हमेशा से ही किसानों की उन्नति, समृद्धि तथा उनकी फसल के बेहतर प्रबंधन के लिए कार्यशील है।  इनके अलावा उन्होंने कंपनी के उत्पाद श्रंखला के बारे में किसानों को अवगत कराते हुए कहा कि किसानों को जागरूक होना बहुत जरुरी है तथा उत्पादों के चयन में सजग रहने की आवश्यकता है।

कोटा और बारां क्षेत्र में कार्यरत राजेश शर्मा एवं निवेश सैनी ने सोयाबीन में आने वाले गर्डल बीटल तथा धान एवं कपास में लगने वाले रस चूसक कीटों के प्रकोप के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सोयाबीन की फसल में गर्डल बीटल से 40 प्रतिशत तक उत्पादन में नुकसान हो सकता है। सोयाबीन की शुरुआती 40 दिन की फसल को अधिक ख्याल रखने की जरुरत है, क्योंकि इसका सीधा प्रभाव उत्पादन पर पड़ता है। उन्होंने इसकी सम्पूर्ण रोकथाम के लिए “धाक” को इस्तेमाल करने की सलाह दी, साथ ही साथ “धाक” की कार्य प्रणाली तथा इससे होने वाले लाभ के बारे में किसानों को अवगत कराया।

एरिया बिज़नेस मैनेजर धनराज कटारिया एवं असिस्टेंट मार्केट डवलपमेंट मैनेजर शुभम कुमार ने किसानों की समस्याओं को जाना तथा “धाक” के साथ-साथ कंपनी के अन्य उत्पादों से सम्बंधित जानकारियों को साझा किया। उन्होंने किसानों को सजग एवं सुदृढ़ बनने की सलाह दी। इस अवसर पर भारत इन्सेक्टीसाइड्स लिमिटेड की ओर से किसानों के लिए जारी की गयी भारत किसान ऐप के बारे में भी बताया तथा किसानों को इससे सम्बंधित फायदों के बारे में समझाया। इस ऐपलिकेशन की मदद से किसान घर बैठे मौसम, फसल, उत्पाद आदि की जानकारी ले सकते है, साथ ही कीटों एवं रोगों की रोकथाम की जानकारी के लिए कंपनी द्वारा जारी किये गये 8882-426-426 नंबर पर सम्पर्क कर सकते हैं। इस अवसर पर उपस्थित किसानों ने नए उत्पाद “धाक” को किसानों के लिए हितकारी एवं फसल के लिए काफी उपयोगी बताया।

More on this section